DiscoverKarniPodcastग़ज़ल: सूट पहनकर कांप रहा है मरियल…
ग़ज़ल: सूट पहनकर कांप रहा है मरियल…

ग़ज़ल: सूट पहनकर कांप रहा है मरियल…

Update: 2021-01-01
Share

Description

कवि :सुरेश पबरा जी , सूट पहनकर कांप रहा है मरियल अफसर जाड़े में , कुछ तोभी होता रहता है उसको अक्सर जाड़े में !
Comments 
loading
In Channel
loading
Download from Google Play
Download from App Store
00:00
00:00
x

0.5x

0.8x

1.0x

1.25x

1.5x

2.0x

3.0x

Sleep Timer

Off

End of Episode

5 Minutes

10 Minutes

15 Minutes

30 Minutes

45 Minutes

60 Minutes

120 Minutes

ग़ज़ल: सूट पहनकर कांप रहा है मरियल…

ग़ज़ल: सूट पहनकर कांप रहा है मरियल…

Karnipodcast